तीन दिवसीय कार्यक्रम

 

तीन दिवसीय कार्यक्रम : 
 यह महोत्सव तीन दिवसीय वार्षिकोत्सव के रूप में आयोजित किया जाता है ! जिसमे प्रथम दिन श्री बालाजी महाराज की शोभायात्रा दरबार से शुरू होकर संपूर्ण मुरार क्षेत्र में समस्त भक्तो के साथ भ्रमण करायी जाती है जो की संध्याकाल में दरबार पर ही आकर श्री बालाजी महाराज की आरती एवं जयकारो के साथ ही समाप्त होती है !
 वार्षिकोत्सव के दूसरे दिन श्री बालाजी महाराज की महापूजा एवं हवन/यज्ञ समारोह पांच ब्राह्मणो के द्वारा संपन्न करायी जाती है !
 वार्षिकोत्सव के तीसरे दिन श्री बालाजी महाराज का बड़ा दरबार का आयोजन किया जाता है जिसमे श्री बालाजी महाराज की बड़ी शक्ति आती है और इस दिन केवल बड़ी अर्जियां ही स्वीकार की जाती हैं ! जिसका लाभ बाहर से आने वाले एवं स्थानीय भक्तगण बड़ी संख्या में उपस्थित होकर लाभ प्राप्त करते है !
 उसके पश्चात श्री बालाजी महाराज की महाआरती की जाती है जिसका लाभ सभी भक्तगणों को लाभ प्राप्त होता है उसके बाद संध्याकाल से विशाल भंडारे का आयोजन किया जाता है जिसमे स्थानीय एवं बाहर के श्रद्धालु प्रसाद ग्रहण करते हैं !