About US

दो शब्द भक्तजनो के लिए :

 

मुझे जो शक्ति प्राप्त हुई है उससे पहले यह शक्ति श्री जगदीश कुशवाह जी को  बालाजी महाराज की शक्ति प्राप्त थी ! जब उनका अंतिम समय आया तो मेने उनकी निस्वार्थ भावना से बहुत सेवा की जिससे प्रसन्न होकर उन्होंने मुझे श्री बालाजी महाराज की शक्ति प्राप्त करने का अति गोपनीय विधान बताया ! उन्होंने अपने मार्गदर्शन में 6 माह तक सतत अभ्यास कराया जिसके फलस्वरूप मुझे यह शक्ति प्राप्त हुई !

परन्तु शक्ति प्राप्त होने के बाद उन्होंने मुझसे एक वचन लिया की में इस शक्ति का प्रयोग जन-कल्याण के लिए ही करूँगा और किसी प्रकार की धन राशि स्वयं के लिए नहीं स्वीकार करूँगा ! जिस वचन का मेने आज दिवस तक निष्ठा भाव से पालन किया है !